Deepak- Blog

  • deepak1347@rediffmail.com
  • 09560678137

Deepak Blog

Technical Blogger/Motivational Speaker/Hindi Poet

वक़्त बहुत हैं पर

वक़्त बहुत हैं पर वक़्त बहुत है , रिश्तों की बारीकियाँ समझने का , पर अफ़सोस ,समझ कर निभा सकते नहीं- अभी।  दोस्तों संग बैठे,गप्पे मारें, बहुत है मन , पर, द्वार सभी है बंद , न खोल सकते , न खुलवा सकते -अभी।। वक़्त…

Read More »